» Virgo Yearly Horoscope 2014
 
Virgo Yearly Horoscope 2014http://www.bestastroguru.com/articles/1388042863big_virgo.jpg

कन्या राशि भचक्र पर छठे स्थान पर आने वाली राशि है, भचक्र पर इसका विस्तार 150 से 180 अंशो के मध्य तक है. इस राशि के अन्तर्गत उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र के तीन चरण, हस्त नक्षत्र के चार चरण तथा चित्रा नक्षत्र के दो चरण आते हैं. इस राशि का प्रतीक चिन्ह एक युवती है जो नाव पर सवार है. उसके एक हाथ में गेहूँ की बालियाँ तथा दूसरे में लालटेन है. लालटेन रोशनी का तो गेहूँ की बालियाँ सभ्यता व सुख समृद्धि का प्रतीक है. यह पृथ्वी तत्व राशि है तथा स्वभाव से द्वि-स्वभाव राशि के अन्तर्गत आती है. इस राशि का राशि स्वामी बुध ग्रह है. इसलिए इस राशि के व्यक्ति सौम्य, गुणी, वाकपटु, चतुर, चालाक व हर काम करने में निपुण होते हैं. हर बात में तर्क करने की आदत होती है लेकिन बुद्धिमत्तापूर्ण तरीके से. कन्या राशि भूमि तत्व होती है जिसके कारण आप सभी काम धरातल पर रहकर करते हैं.

ग्रहों में बुध को राजकुमार की उपाधि प्राप्त है, इसलिए आप सदैव ऊर्जावान बने रहते हैं और स्वयं को किसी से कभी कम नहीं समझते हैं. द्वि-स्वभाव होने से आप बहुत बार दुविधा में फंसे रहते हैं लेकिन आप सदा ही दूसरों की सहायता करने को भी तत्पर रहते हैं. आप सामाजिक प्राणी होते हैं और समाज के दायरे में रहकर आगे बढ़ते हैं. छोटी से छोटी बात को भी गंभीरता से लेकर आगे बढ़ते हैं और उस पर भी चिन्तन मनन करते हैं. आपके संबंध कम लोगो से बनते हैं लेकिन जिनसे भी बनते हैं मजबूत ही बनते हैं.

कन्या राशि का होने से आप एक सच्चे मित्र साबित होते हैं जो सदा अपने दोस्तों की सहायता के लिए तत्पर रहता है. परिवार के प्रति भी आप समर्पित रहते हैं और सभी सदस्यों को बहुत प्यार करते हैं. घर के बुजुर्गों की तो आप बहुत सेवा करते हैं, यदि वह बीमार भी पड़ जाते हैं तब सबसे अधिक सेवा भावना आप में ही होती है. आप खाने के भी बहुत शौकीन होते हैं और भांति-भांति के व्यंजन आपको बहुत पसंद होते हैं. खाने की जब भी बात होगी आप सबसे पहले कदम बढ़ाएंगे. आपके भीतर दया का भाव होता है, व्यवहारिक व वफादार भी होते हैं. किसी भी बात का विश्लेषण व मूल्याँकन करने के बाद ही नतीजे पर पहुंचते हैं. जानवरो व पशुओ से प्यार होता है, किताबे पढ़ने के शौकीन होते हैं और प्राकृतिक नजारों से प्रेम होता है.

उपरोक्त खूबियों के अलावा आपकी कमी यह होती है कि आप हर समय किसी ना किसी बात की चिन्ता में रहते ही हैं, जरा सी बात को भी गंभीर बना देते हैं. कुछ संकोची तथा शर्मीले स्वभाव के होते हैं इसलिए आपको केन्द्र बिन्दु रहने अच्छा नही लगता है. दूसरों की आलोचना बहुत करते हैं क्योकि सामने वाले में आपको कोई ना कोई कमी नजर आती ही रहती है. अभद्र व अशिष्ट व्यवहार करने वाले लोगो से आप दूर ही रहते हैं.

कन्या राशि के लिए उपयुक्त व्यवसाय

आप अच्छे लेखक हो सकते हैं, आपको ललित कलाओ से भी बहुत प्यार होता है. इसके अलावा आप कूतनीतिज्ञ, संचार व गणित व आंकड़ो से जुड़े कामो में रुचि रख सकते हैं. आप ज्योतिष विज्ञान को भी अपने व्यवसाय का क्षेत्र चुन सकते हैं. अकाउंटस, क्लर्क, संपादक आदि भी हो सकते हैं. मनोवैज्ञानिक, वायुयान चालक अथवा चिकित्सक भी हो सकते हैं. व्यापार आदि में भी रुचि रह सकती है अथवा दुकान भी खोल सकते हैं. डाक विभाग में भी आप नौकरी कर सकते हैं.

2014 कन्या राशिफल - पैसा और वित्तीय स्थिति

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय

कन्या पैसा और वित्तीय स्थितिआपके आय तथा व्यय समान रहने की संभावना बनती है. जितना धन आएगा उसमें से आप संचित करने में नाकामयाब रहेंगे क्योकि यह साथ ही साथ आपकी जरुरतों के पूरा होने में खर्च होता रहेगा. वैसे आपको इस तिमाही के आरंभ में समझ ही नहीं आएगा कि किस तरह से अपना बजट निर्धारित करें, बस राम भरोसे ही आप आगे बढ़ते जाएंगे. परिवार के खर्चों की पूर्ति अथवा घर इत्यादि के रख रखाव पर भी धन व्यय की संभावना बन रही है. किसी ना किसी रुप में इस समय व्यय बने ही रहेंगे और धन की कमी के कारण आप अपना क्रोध दूसरों पर निकालेंगे. तिमाही के मध्य भाग में धनाभाव के कारण परिवार में तनाव की स्थिति भी पैदा हो सकती है.

तिमाही के अंत तक आप धन संबंधी मामलों को लेकर परेशान ही रहेंगे. खर्चों को नियंत्रित करने का भी आप हर भरसक प्रयत्न करेंगे लेकिन खुद को विवश ही पाएंगे. इस तिमाही में आपके सामने आय बढ़ाने के अवसर भी आ सकते हैं, यह आपके ऊपर निर्भर करेगा की उन्हें कैसे उपयोगी बनाया जाए इसलिए ज्यादा गहराई में चिन्तन मनन ना करें अन्यथा आप सोचते ही रह जाएंगे और मौका हाथ से निकल भी जाएगा.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

तिमाही के इस भाग में अनचाहे खर्चे आपका पीछा छोड़ने को तैयार नहीं होगें, खर्चों के साथ हानि होने के योग भी आपके साथ बने ही रहेंगे. आप कहीं भी निवेश करते हैं तो सोच-विचार कर ही करें. मित्रो आदि को उधार दिया गया रुपया वापिस मिलने के योग कम ही हैं अथवा काफी विलंब के बाद ही धन वापिस मिल पाएगा. तिमाही के इस भाग में आप गलत तरीको से धन कमाने का सोच सकते हैं अर्थात इस समय आप रिश्वत अथवा घूसखोरी से धन में वृद्धि कर सकते हैं. आपका जीवनसाथी इस समय आपके खर्चो का कारण बन सकता है. आप इस समय अपना धन यात्राओ पर भी व्यय कर सकते हैं. संतान आदि के खर्चों की पूर्ति में आपका पैसा खर्च हो सकता है.

जो पैसा साथी के कारण खर्च होगा उस पैसे की भरपाई भी आपका साथी ही करेगा. तिमाही के मध्य भाग में धीरे-धीरे स्थिति में सुधार की संभावना बन सकती है और तिमाही के तीसरे भाग तक स्थिति में सुधार होगा. आपकी माताजी, जीवनसाथी अथवा कोई महिला आपके लिए लाभदायक रह सकती है और आपकी आर्थिक हालत में सुधार होना आरंभ हो सकता है.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

तिमाही के इस भाग में आपकी आय के स्तोत्र बने रहेंगे और इस समय धनागमन की ओर से आप निश्चिंतता का अनुभव कर सकते हैं. आपके सामने आय के कई स्तोत्र आ सकते हैं जिसे आप अपनी बुद्धिमत्ता के बल पर अपने पक्ष में कर सकते हैं. इस समय आपके बाहरी रुप से भी आय के साधन बने रहेंगे. गुप्त रुप से आप या कमीशन आधारित काम करने पर भी आपकी आय में इजाफा हो सकता है. आप जो काम नियमित रुप से करते हैं उसके अलावा भी आनलाईन बैठकर अतिरिक्त काम की तलाश कर सकते हैं.

इससे आप अपनी आर्थिक स्थिति को काफी हद तक संभालने में सफल रह सकते हैं. तिमाही का मध्य भाग आपके लिए काफी लाभदायक बना रह सकता है, इस समय आपके वेतन में वृद्धि हो सकती है. आपके मित्र अथवा बड़े बहन-भाई या इनके समान व्यक्ति आपके लाभ बढ़ाने में मददगार सिद्ध होते हैं. तिमाही के मध्य भाग में आपकी आय का संबंध विदेश से भी हो सकता है. इस समय आय के साथ आप धार्मिक संस्थाओं में दानादि भी दे सकते हैं. इस समय कुछ धन आप अपनी कुछ निजी जरुरतों को पूरा करने में भी व्यय कर सकते हैं.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

इस समय आप खुद पर काफी धन फिजूल का खर्च कर सकते हैं और आप अपने परिवार की जरुरतों को पूरा करने के लिए भी रात-दिन एक कर के पैसो का जुगाड़ कर ही लेंगे लेकिन पैसों का जुगाड़ आप गैर कानूनी काम कर के ना करें अन्यथा मान सम्मान पर बट्टा लगने की संभाव‌ना ब‌न सकती है. तिमाही के मध्य भाग का समय यात्राओ पर खर्चो का हो सकता है.

इस तिमाही के दूसरे व तीसरे भाग में आप गुप्त रुप से पैसा कमाने की सोच सकते हैं अथवा आप धन निवेश की योजना बना सकते हैं लेकिन बेहतर होगा कि आप यदि किसी की सलाह से निवेश करें. जो लोग सट्टा अथवा जुआ खेलते हैं उन्हें बार-बार प्रयास करने पड़ सकते हैं, इसलिए अच्छा होगा कि आप बुद्धिमत्ता से धन का निवेश करें. जिन लोगो का संबंध जमीन के काम से है उनके लाभ में वृद्धि होगी.

विशेष

अपनी आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ बनाने के लिए आपको प्रतिदिन लक्ष्मी चालीसा का पाठ सुबह के समय करना चाहिए.

2014 कन्या राशिफल - कैरियर और प्रोफेशन

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय


कन्या 2014 कैरियरतिमाही के आरंभ माह में आप अपनी नौकरी में परिवर्तन की चाह रख सकते हैं. नौकरी परिवर्तन करने का कोई विशेष कारण नहीं होगा, कहीं से अच्छी आफर मिलने के कारण आप नौकरी बदलने की सोच सकते हैं. आपका यह निर्णय आपके लिए अच्छा ही रहेगा और आप नए स्थान पर जाने से स्वयं को ऊर्जावान भी महसूस करेंगे. इस नए स्थान पर आरंभ में प्रतिद्वंद्वी भी आपके पैर जमने में दिक्कतें पैदा कर सकते हैं लेकिन आप अन्तत: उन पर जीत हासिल कर ही लेंगे क्योकि कुछ समय तो आप संयम से निकालेंगे लेकिन पानी सिर से निकल जाने पर आप अपनी कूटनीति से और कुचालों से प्रतिद्वंद्वियों की हर बाजी को पलटने में कामयाब रहेंगे.

बिजनेस करते हैं तो आपको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, यह परेशानियाँ किसी भी रुप में आपके सामने बनी रह सकती है. आपके कर्मचारी आपके खिलाफ आवाज भी उठा सकते हैं जिससे आप समय पर अपने माल की आवाजाही करने में नाकामयाब रह सकते हैं. इससे आपका नुकसान होने की संभावना बनती है. अंत में आप परेशान होकर उलटे तरीको से अर्थात साम, दाम, दण्ड तथा भेद की नीति का पालन करते हुए अपने काम को सफल बनाएंगे तब आप उचित-अनुचित का कोई लिहाज नही करेंगे.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

यह समय कैरियर के दृष्टिकोण से अनुकूल रहने में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. विरोधियों को कुचलने के लिए आप कुटिल चालों का सहारा ले सकते हैं. इस कारण तिमाही के पहले भाग में आपको मानहानि का अथवा आरोप-प्रत्यारोपो का सामना भी करना पड़ सकता है. कार्यक्षेत्र पर सहयोगियों के साथ अति कटु वाणी का उपयोग कर सकते हैं. अपने काम को सिद्ध करने में इस समय आप झूठ का सहारा लेने से भी परहेज नहीं करेंगे. अपनी चिकनी-चुपड़ी वाणी का उपयोग कर के आप बॉस की नजरों में ऊपर उठने का प्रयास करेंगे. तिमाही के मध्य भाग से अंतिम भाग तक का समय मिश्रित सा रहेगा और इस समय आपके कामो की गति धीमी रह सकती है लेकिन ठीक तिमाही के एकदम अंतिम भाग में आपको कुछ उपलब्धियाँ प्राप्त हो सकती हैं.

व्यवसायियो के लिए तिमाही का आरंभ परेशानियों वाला रह सकता है लेकिन इस समय फिर भी आप अपने लाभ को जैसे-तैसे कर के बनाए रख सकते हैं. काम की सफलता के लिए आप घूस देने से भी पीछे नहीं हटेंगे. तिमाही मध्य भाग तथा अंतिम भाग का समय आपके पक्ष में रहने की संभावना बनती है. यदि अंतिम भाग में आप अपने प्रयासों को जरा सा भी तेज कर देते हैं तो आपके काफी काम सरलता से बन सकते हैं. जिनके काम का संबंध विदेशों से है उनके लिए तिमाही का अंतिम भाग पक्ष में रहेगा अथवा जो विदेशों के लिए प्रयास कर रहे हैं वह इस तिमाही में सफलता पा सकते हैं. प्रॉपर्टी से संबंधित लोगो का काम इस तिमाही में मंदा पड़ सकता है इसलिए उन्हें धैर्य का परिचय देना चाहिए.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

कैरियर के दृष्टिकोण से तिमाही का यह भाग अपेक्षाकृत अधिक अनुकूल रहने की संभावना बनती है. आप द्वारा बनाई योजनाओं को गति मिलने की संभावना बनती है. इस समय नया प्रोजेक्ट आरंभ करने पर आपको लाभ व प्रशंसा मिल सकती है. सरकारी कार्यों से जुड़े लोगों को पदोन्नति की संभावना बनती है. यह समय आपके लिए सुकून से भरा हो सकता है. तिमाही मध्य भाग का समय और अधिक उपलब्धियों वाला रहेगा. कर्मचारियों के सहयोग से आप आगे बढ़ेगें और मंजिल तक पहुंचेगे. इस समय आप अपने काम से अधिक से अधिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं इसलिए आपको इस सुनहरे अवसर को हाथ से जाने नहीं देना चाहिए, कुछ समय की मेहनत आपको लंबे समय तक का फायदा दे सकती है. पदोन्नति के साथ आपको अपने कार्यक्षेत्र में उपलब्धियाँ पाने के लिए पुरस्कृत भी किया जा सकता है.

आपका संबंध यदि बिजनेस से है तब आपके लाभ बढ़ने की संभावना बनती है. कुछ परेशानियों के साथ आपका बिजनेस रात-दिन तरक्की करेगा. बिजनेस का तो अर्थ ही परेशानियाँ हैं क्योकि एक मुकाम हासिल करने के बाद इसे उसी मुकाम पर बनाए रखने के लिए कड़ी मेहनत व भाग-दौड़ करनी पड़ती है. आप व्यवहारिक व्यक्ति हैं इसलिए हर काम को व्यवहारिकता की कसौटी पर रहकर पूरा करते हैं. बारीक से बारीक बात का भी विश्लेषण करने के बाद आप किसी नतीजे पर पहुंचते हैं. इसलिए बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए आप हर योजना का अध्ययन लाभ - हानि के नजरिए से करने के बाद ही कोई निर्णय लेंगे. अपनी बुद्धिमत्ता से ही आप सभी काम निपटाने में सफल होगें.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

तिमाही के इस भाग में आपके प्रयास बढ़ने की संभावना बनती है. कार्यक्षेत्र पर आप काम का दबाव व अतिरिक्त बोझ का अनुभव कर सकते हैं. आपके काफी प्रयासों के बाद ही कुछ अनुकूल फल मिलने की संभावना बनेगी. इस समय कार्यक्षेत्र पर आपके साथ धोखा होने की संभावना भी बनती है. आपको अपने कर्मचारियों व सहयोगियों पर आंख मूंदकर भरोसा नहीं करना चाहिए. इस समय आपका कोई प्रोजेक्ट अथवा कार्यनीति का समय से पहले दूसरों को पता चल सकता है, इससे आप अत्यधिक सदमें आकर तनावग्रस्त हो सकते हैं. यदि आप पहले से सतर्क होकर चलते हैं तब आप धोखेधड़ी से बच सकते हैं.

आपकी उपलब्धियों से कुछ लोग नाखुश रहेंगे और वह सदा आपको नीचा दिखाने की तलाश में रह सकते हैं. इसलिए इस तिमाही में आपको सावधान रहना होगा, खासकार तिमाही के दूसरे भाग में आप किसी से ज्यादा बहस ना करें. अपने काम से काम रखें लेकिन फिर भी आपके विरोधी आपको उकसाने का यत्न कर सकते हैं. आपको आवेश में आकर कोई जवाब नहीं देना, केवल चुप रहें. यदि आपने बोलने की या जवाब देने की कोशिश की तो आपको इसका भुगतान अपनी नौकरी गंवाकर करना पड़ेगा अथवा आपको केसादि में भी फंसाया जा सकता है. तिमाही का अंतिम भाग आपके लिए अनुकूल सिद्ध हो सकता है.

आप बिजनेस करते हैं तो आपके लिए अत्यधिक भाग-दौड़ वाला समय रह सकता है, जिसका असर आपके स्वास्थ्य पर भी पड़ सकता है. आपके अधीन काम करने वाले लोग आपके लिए सिरदर्द बन सकते हैं. आपको उनके सामने स्वयं को शांत ही दिखाना चाहिए और किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया जाहिर नहीं करनी चाहिए. वाणी में मिठास घोलते हुए और कूटनीति का परिचय देते हुए आपको अपने काम निकलवाने का यत्न करना चाहिए. तिमाही के दूसरे भाग में विशेषतौर पर सावधानी बरतें और लक्ष्यो को पाने के लिए आप अनैतिक तरीको का सहारा ना लें अन्यथा आप फंस सकते हैं.

2014 कन्या राशिफल - हैल्थ और फिटनेस

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय

कन्या 2014 स्वास्थतिमाही का पहला भाग स्वास्थ्य के नजरिए से अच्छा रहने की संभावना बनती है लेकिन मानसिक परेशानियाँ आपको बनी रह सकती है. तिमाही के दूसरे भाग में आपकी सेहत प्रभावित रह सकती है. इस समय आपको त्वचा संबंधी विकार हो सकते है. जिन लोगों को शुगर संबंधी समस्या है वह इस तिमाही में बढ़ सकती है. मौसमानुसार खानपान का ध्यान रखें अन्यथा आपको बुखार होने की संभावना भी बनती है. यदि बुखार होता है तो स्वयं चिकित्सक ना बने, किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाएँ और जाँच कराएँ.

गर्भवती महिलाओं को नियमित रुप से अपना चेक-अप कराते रहना चाहिए. तिमाही के अंत समय में आपको अनैतिक संबंधो से बचना चाहिए अन्यथा आप गंभीर बीमारी के शिकार हो सकते हैं.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

तिमाही का आरंभ मानसिक तथा शारीरिक व्याधियों को लेकर हो सकता है. आपकी बुद्धि इस समय भ्रमित सी बनी रहेगी और आप तनाव के कारण आपका मन भी व्याकुल रहेगा, जिससे सभी कुछ छोड़कर किसी एकांत में जाने का मन बना सकते हैं. आपके अस्वस्थ रहने का कारण आपकी मानसिक परेशानी ही होगी इसलिए बेहतर है कि आप कुछ समय के लिए कहीं बाहर घूमने चले जाएं अथवा कुछ समय के लिए किसी हैल्थ फिटनेस प्रोग्राम को अपना लें. इससे आप अपने भीतर काफी बदलाव का अनुभव करेंगे. आप समय-समय पर मेडिटेशन अथवा योग भी करते हैं तो उससे भी आपको अपने भीतर बदलाव महसूस होगें. इन सब से आप मानसिक के साथ शारीरिक तौर पर भी स्वस्थ हो जाएंगे.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

यदि मानसिक परेशानियों व तनाव को कम करने का कोई प्रयास आपके द्वारा नहीं किया जाएगा तो तिमाही के इस भाग में भी आप तनावग्रस्त रहेंगे. इस तनाव के कारण आप हर समय अपने मस्तिष्क पर एक बोझ सा महसूस कर सकते हैं. इस कारण आपको कभी-कभी सिर चकराने की संभावना भी बनती है. चिकित्सक भी आपकी बीमारी को पकड़ पाने में असमर्थ रह सकते हैं. तिमाही के इस भाग में आपको अपने नेत्रो की भी जांच करा लेनी चाहिए. विशेषतौर से बच्चो को यदि सिरदर्द की शिकायत अथवा आंखों में धुंधलापन अथवा टेलीविजिन देखते समय पानी आता है तब उन्हें अवश्य ही चिकित्सीय सलाह लेनी चाहिए.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

तिमाही का यह भाग मिश्रित सा रहेगा और इस समय तक आप जो भी तनाव झेल सकते थे झेल चुके होगें. अब आपका तनाव आपकी कटु वाणी के रुप में उभर कर सामने आएगा. जो लोग आपकी मानसिक परेशानी का कारण होगें उन्हें भी खरी-खोटी सुनाकर ही आपको राहत मिलेगी. लेकिन इस तिमाही में महिलाओ को मूत्र संबंधी अथवा माहवारी संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. इसे आप अन्यथा ना लें और किसी महिला विशेषज्ञ से उचित सलाह लेकर अपना ईलाज कराएं. तिमाही के इस भाग में सुरक्षित यौन संबंध बनाए और इंफेक्शन से बचें.

इस तिमाही में आपको नशे की हालत में वाहन नहीं चलाना चाहिए. आप बाहरी खाद्य पदार्थो से भी परहेज करेंगे तो अच्छा रहेगा अन्यथा फूड पॉयजनिंग हो सकती है. तिमाही का अंतिम भाग आपके लिए उचित कहा जा सकता है. इस समय आपके स्वस्थ रहने की संभावना बनती है.


विशेष आपको जब कभी भी स्वास्थ्य संबंधी परेशानी का अनुभव अधिक होता है तब आप शनि तथा बुध के मंत्र जाप की एक माला रोज करें. शनि मंत्र “ऊं शं शनैश्चराय नम:” बुध मंत्र “ऊं बुं बुधाय नम:”
2014 कन्या राशिफल - प्रेम संबंध

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय

कन्या 2014 प्रेमप्रेम संबंधो के लिए तिमाही का यह भाग मिश्रित सा रहेगा क्योकि आपका झुकाव तो अपने प्रेमी की ओर रहेगा लेकिन आपका प्रेमी आपसे उखड़ा सा रह सकता है. किसी भी एक जरा सी बात पर यह आपसे नाराज हो सकता है और रुठने-मनाने में ही अधिकतर समय व्यतीत हो सकता है. तिमाही के दूसरे भाग में आपके प्रेम संबंधो के मध्य पिता अथवा पिता समान व्यक्ति के आने की संभावना बनती है, जिससे वह आपके इन संबंधों का विरोध कर सकते हैं. आप स्वयं को एक अजीब सी कशमकश में फंसा हुआ सा महसूस करेंगे और इसी कारण हो सकता है कि तिमाही के अंतिम भाग में आपके यह संबंध टूट भी जाएं क्योकि आप परिवार व प्रेमी के मध्य स्वयं को फंसा हुआ सा महसूस करेंगे. प्रेम संबंधों में यदि आप मधुरता चाहते हैं तो परस्पर एक-दूसरे को समझने का प्रयास करें ना कि एक-दूसरे की कमियों को देखें, तभी यह संबंध सुचारु रुप से चल पाएंगे.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

तिमाही के आरंभ में आपके दांपत्य जीवन में मधुरता का अभाव बना रह सकता है और दोनो के मध्य दूरियाँ अधिक बढ़ने की संभावना बनती है. आप सामाजिक प्राणी है और सभी के साथ चलना आपको अच्छा लगता है इसलिए अधिक समय तक आप अकेला नहीं रह पाएंगे. इसलिए दांपत्य जीवन के सुख की कमी को पूरा करने के लिए आप अधिकतर समय विपरीत योनि के लोगो के साथ सोशल साईट पर बाते करने में बिता सकते हैं. यही पर आपका रुझान किसी एक की ओर अधिक हो सकता है और आप उससे अपने प्रेम का इजहार भी कर सकते हैं. लेकिन आपका यह सुख क्षणिक ही होने की संभावना बनती है. इसलिए आप जो भी करें उसे सोच-विचार कर ही करें और बुद्धिमत्ता से काम लें.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

इस तिमाही के आरंभ माह में आपके संबंध डांवाडोल से ही बने रहने की संभावना बनती है. जो पीछे एक संबंध आरंभ हुआ होगा वह बरसाती मौसम की तरह खतम हो सकता है, लेकिन दांपत्य जीवन की परेशानी अभी तक बरकरार रह सकती है. इसी परेशानी को दूर करने के लिए आप विवाहेतर संबंधो की तलाश में लगे रह सकते हैं लेकिन अपने समान व्यक्ति आपकी नजर में शायद ही कोई हो. तिमाही के दूसरे भाग में आपको किसी का साथ मिलने की संभावना बनती है जिसके साथ समय बिताना आपको अच्छा लग सकता है. लेकिन आप अपनी सीमा में रहते हुए ही बातचीत करेंगे, इससे आगे बढ़ना आपको स्वयं मर्यादा से बाहर लगेगा.

आप बिना प्रेम के नही रह सकते हैं क्योकि आपको अकेलापन खलता है. इसलिए प्रेम संबंध नहीं भी स्थापित होते हैं तब भी आपको किसी साथ की चाहत रहती ही है, इसकी पूर्ति आप अपने आसपास के लोगों के साथ हंसी मजाक से भी कर सकते हैं. इस तिमाही में आप एक साथ कई लोगों से फ्लर्ट कर सकते हैं.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

इस तिमाही में आप अनैतिक संबंधों में फंस सकते हैं, जिससे आपके चरित्र पर अंगुलियाँ भी उठाई जा सकती हैं. आपकी बुद्धि इस समय भ्रमित सी रहेगी और आपको समझ ही नहीं आएगा कि उचित क्या है. अपने प्रेमी के साथ भी आपका बर्ताव बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता है. उसके साथ भी आप रुखापन तथा बदतमीजी का व्यवहार कर सकते है, प्रेमी पर आप संदेह भी कर सकते हैं. इससे दोनो के मध्य काफी दूरियाँ बढ़ सकती है. तिमाही के मध्य भाग से आपको अपनी गलतियों का अहसास होना आरंभ हो सकता है और आप एक बार फिर से अपने संबंधो को सुधारने का प्रयास कर सकते हैं. इस समय आप किसी को भी अपने प्रेम संबंधों की भनक तक पड़ने नही देंगे और चुपचाप संबंधों को सुचारु रुप से चलाने का यत्न करते रहेंगे और तिमाही के अंत तक आपके प्रेम संबंध फिर से पटरी पर आने की संभावना बनती है.

2014 कन्या राशिफल - विद्यार्थी

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय


कन्या 2014 परिवारतिमाही का आरंभ तो विद्यार्थियों के लिए अनुकूल रहेगा और वह अपने शैक्षणिक क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन कर के दिखाएंगे लेकिन तिमाही का दूसरा भाग मन भटक सकता है और यह गलत सोहबतों में शामिल हो सकते हैं. प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने के लिए भी यह समय प्रतिकूल रह सकता है. ऎसा नही है कि आप पढ़ाई नहीं कर सकते हैं लेकिन आपके आलसीपन के कारण आप पिछड़ सकते हैं. तिमाही के अंतिम भाग में बुध के नीच राशि में होने पर तो आपका मन पढ़ाई से विमुख ही रहने की अधिक संभावना बनती है. पढ़ाई में मन लगाने के लिए आप सुबह स्नानादि से निवृत होकर “ऊं गं गणपतये नम:” का जाप 108 बार करें. इससे आप मन को एकाग्रचित्त करने में कामयाब रहेंगे.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

तिमाही का आरंभ समय नकारात्मक रहेगा लेकिन उसके बाद आप कुछ राहत महसूस कर सकते हैं लेकिन ज्यादा नहीं. इस समय आप अपने सहपाठियों के साथ मारपीट आदि में ज्यादा शामिल हो सकते हैं और यदि कहीं आप घर से दूर रहकर पढ़ाई कर रहे हैं तब तो कोई देखने वाला नहीं है यही सोचकर आपकी गुंडा गर्दी अधिक बढ़ सकती है और आप अवारा किस्म के बच्चो के साथ अपना कीमती समय नष्ट करने में लगे रह सकते हैं. अभी तो नया सत्र आरंभ हुआ है इसलिए अभी भी आपके संभलने का समय बचा है. यदि अभी भी आप पढ़ाई में ध्यान देते हैं तो पिछला सभी कुछ कवर कर सकते हैं.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

तिमाही के इस भाग में आपकी हरकतों की खबर आपके माता-पिता तक जा सकती है. आपके अभिभावक तथा शुभचिन्तक आपको समझाने का प्रयास करेंगे और आपको उनकी बात समझ में आ भी जाएगी. आप अपनी हरकतों पर शर्मिंदा भी रह सकते हैं और पछतावे का अहसास भी हो सकता है. अब आप पढ़ाई में मन लगाने का प्रयास करेंगे कुछ समय की परेशानी के बाद आप पढ़ाई में मन लगाना आरंभ कर देंगे क्योकि जो भी बुरी आदते हैं उनसे आपको धीरे-धीरे ही छुटकारा मिलेगा इसलिए तिमाही के अंत तक ही पढ़ाई में मन लगना शुरु होगा.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

पिछले सत्र को पूरा करने में थोड़ा परेशानी का अनुभव कर सकते हैं. साथ ही इस सत्र की भी तैयारी आपको करनी है इसलिए एकाएक अत्यधिक बोझ का अनुभव आपको इस तिमाही में हो सकता है. जिसके कारण आप गुमसुम से भी रह सकते हैं और हंसी मजाक भी आपको इस समय रास नहीं आएगा. मित्रों के साथ बातचीत अथवा घूमना-फिरना भी आप बंद कर सकते हैं. ऎसा नहीं है कि जो ज्यादा बाते करते हैं या घूमते है अथवा मौज मस्ती करते हैं वह पढ़ने में पीछे रहते हैं. सभी काम समय के साथ वह एक सीमा में अच्छे लगते हैं और हर चीज की अधिकता खराबी ही देती है. इसलिए शिक्षा के दौरान सभी क्रिया कलापों में भाग लें. जिससे आपका सर्वांगीण विकास होगा और केवल पढ़ाई करते रहने से भी आपको बोरियत महसूस नहीं होगी.

2014 कन्या राशिफल - यात्रा

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय


कन्या 2014 परिवारतिमाही का आरंभ समय आपकी यात्राओं के लिए अनुकूल कहा जा सकता है. इस समय कुछ यात्राएं आप अपने गुरु से मिलने के लिए भी कर सकते हैं. यात्राओं पर आप अनुकूल महसूस कर सकते हैं. पिता अथवा कुछ वरिष्ठ लोगो के साथ अथवा उन्हें लेकर आपको यात्राओं पर जाना पड़ सकता है. यात्राओं के दौरान आप कष्टों का अनुभव कर सकते हैं क्योकि आप जिनके साथ गए हैं उन्हीं के अनुसार चलना आपकी मजबूरी होगा और आपको बंधकर रहना पसंद नहीं होता है. आप स्वतंत्र व्यक्ति हैं और स्वतंत्र ही रहना चाहते हैं.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

इस तिमाही का आरंभ समय आपकी यात्राओं को लेकर अनुकूल नहीं कहा जा सकता है. इस समय की गई यात्राओं में कष्ट तो होगा ही साथ में एक ही काम के लिए आपको कई बार प्रयास करने पड़ेंगे जिससे यात्राओं की पुनरावृति होगी. अत्यधिक यात्राओं से आपका स्वास्थ्य भी प्रभावित रह सकता है. कम से कम आप तिमाही का पहला माह यात्राओं के लिए छोड़ दें अर्थात यात्राओं पर ना जाएं, यदि बहुत ही आवश्यक है तब आप दिशाशूल का विचार कर के आगे बढ़े.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

तिमाही के पहले भाग में की गई यात्राओ से आपको हानि की आशंका बनती है. यह हानि किसी भी रुप में हो सकती है. दूसरे भाग में की गई यात्राएं लाभ दिलाने वाली होगी और इस समय अधिकतर व्यवसायिक यात्राएं ही ज्यादा होने की संभावना बनती है. आप अपने परिवार के साथ भी बाहर जाने का कार्यक्रम बना सकते हैं. तिमाही के अंतिम भाग में आप लंबी दूरी की हवाई यात्राओं पर भी जा सकते हैं. इस अंतिम भाग में छोटी व बड़ी दोनो के लिए समय अनुकूल रहेगा.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

इस समय की गई यात्राओं से आपको परेशानी अधिक होगी और लाभ कम होगा. आपका स्वास्थ्य इन यात्राओं से काफी ज्यादा प्रभावित हो सकता है अथवा खराब स्वास्थ्य के कारण आप आवश्यक यात्राओं पर नहीं जा पाएंगे. इससे आपका मन उचाट रह सकता है कि जरुरी होते हुए भी आप जा नहीं पा रहे हैं. तिमाही का मध्य भाग फिर आपकी ऎसी यात्राएं करा सकता है जिसमें आपका काफी समय लग सकता है लेकिन इस समय को एक तरह से आप आने वाले समय के लिए निवेश समझें जिसका लाभ आपको भविष्य में मिलेगा. तिमाही के अंत समय में यात्राएं अनुकूल तो रहेगी लेकिन आप इस समय भाई-बहनों अथवा कार्यक्षेत्र पर सहयोगियों का विरोध सहना पड़ सकता है.

2014 कन्या राशिफल - परिवार

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय

कन्या 2014 परिवारइस तिमाही में आपको मिले-जुले फल मिलने की संभावना बनती है. इस पूरी तिमाही में मंगल का प्रभाव आपके लग्न और दूसरे भाव पर ही रहेगा जिससे आपके घर के सुख में, कुटुम्ब में तथा दांपत्य जीवन में कलह रहने की संभावना बनती है. मंगल आपकी कुंडली के लिए अशुभ है और इसकी दृष्टि आपके लिए प्रतिकूल फलों को प्रदान करने वाली रह सकती है. माता के साथ वैचारिक मतभेद रहेंगे और यह मतभेद झगड़ो का रुप भी ले सकते हैं.

तिमाही के इस भाग में आपकी संतान भी आपके हक में नहीं रहेगी अर्थात आपके कहे अनुसार नहीं चलेगी. आपको इससे भी परेशानी का अनुभव बना रहेगा. आप बोलते समय शब्दों का ध्यान अवश्य रखें, एक बार मुँह से निकले शब्द फिर वापिस नहीं आ सकते हैं. इस तिमाही के अंतिम भाग में आप समय को संयम से निकालने का प्रयास करें क्योकि इस समय घर में कलह क्लेश अथवा अप्रिय समाचार सुनने को मिल सकता है. इस समय ऎसी बातों पर धन खर्च होगा जिनका कोई अर्थ ही नहीं होगा और ना ही कोई लाभ होगा.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

प्रॉपर्टी को लेकर यदि लड़ाई-झगड़े चले हुए हैं तब उनके बढ़ने की संभावना बनती है. तिमाही का यह भाग आपके दांपत्य जीवन के लिए बिलकुल भी उपयुक्त नही कहा जा सकता है. इस समय आप दोनो के मध्य काफी मतभेद उभर कर सामने आ सकते हैं. किसी भी तरह से आपको परिस्थितियों को काबू में रखने का प्रयास करना चाहिए. एक बार स्थिति बिगड़ जाने पर आपके लिए उसे संभालना मुश्किल हो सकता है और इसका भुगतान काफी लंबे अरसे तक करना पड़ सकता है. दांपत्य जीवन में किसी तरह से भी प्रेम भाव को कम ना होने दें.

इस तिमाही में आपको किसी क्षेत्र में निवेश से पूर्व एक बार अवश्य सोच लेना चाहिए. वाहन लेने के लिए समय बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता है. पुराने वाहन के रखरखाव पर भी काफी धन व्यय हो सकता है. तिमाही के अंतिम भाग में दांपत्य जीवन में सुधार होने की संभावना बनती है. इस समय आप कुछ राहत का अनुभव कर सकते हैं.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

वर्ष की यह तिमाही आपके लिए शुभ फल प्रदान करने वाली सिद्ध होगी, जो भी परेशानियाँ आपको अभी तक बनी हुई थी, उन सभी में आपको राहत महसूस होना आरंभ हो जाएगी. परिवार में कुछ सुकून का अनुभव आपको होगा और भाई-बहनों के साथ संबंधों में मधुरता बढ़ेगी. आप इस समय घर में खुशियों का आनंद लेंगे और मन में थोड़ी शांति का अनुभव करेंगे लेकिन सभी कुछ ठीक होते हुए भी ना जाने क्यूँ आपका मन व्याकुल सा रह सकता है. मन की इस बेचैनी को दूर करने के लिए आप स्वयं को व्यस्त रखने का प्रयास तो बहुत करेंगे लेकिन सफल नहीं हो पाएंगे.

तिमाही के इस भाग में आप विदेश यात्रा पर घूमने के उद्देश्य से जा सकते हैं. इस पूरी तिमाही में आपको नींद भी कम आने की संभावना बनती है. नींद पूरी ना होने से भी आपका मन बेचैन रह सकता है. तिमाही के अंतिम भाग में आपके संबंध अपने बच्चो के साथ सुधरने की उम्मीद बनती है. वह आपके लिए लाभदायक सिद्ध हो सकते हैं. जो लोग घर बदलने की सोच रहे हैं वह इस तिमाही के अंतिम भाग में बदलें.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

वर्ष की अंतिम तिमाही के पहले भाग में आपको मानसिक कष्टों का फिर से सामना करना पड़ सकता है, जो काम आपने नहीं किया है उसका भुगतान करना पड़ सकता है. परिवार के अन्य सदस्यों द्वारा लांछनो का सामना करना पड़ सकता है, इन लांछनो अथवा झूठे आरोपो को सुनकर आप चुप बैठने वाले नहीं होगें और आपकी जुबान आग बरसाने का काम कर सकती है. इससे परिवार में शीतयुद्ध की सी स्थिति हर समय बनी रह सकती है. विवाहित होते हुए भी आपके प्रेम संबंध स्थापित होने की संभावना बनती है और इस तिमाही के ये प्रेम संबंध काफी समय तक बने रहने की संभावना भी बनती है.

तिमाही के दूसरे भाग में आपका अधिकतर समय मित्रों के साथ बीत सकता है अथवा घूमने - फिरने में बीत सकता है. इस समय आपको पड़ोसियों के साथ किसी तरह से झगड़ना नहीं चाहिए, विशेषतौर से छोटी-छोटी फिजूल की बात से दूर रहें. इस समय आपके केसादि शुरु होने की संभावना भी बनी हुई है इसलिए शांत रहें. तिमाही का अंतिम भाग पारीवारिक दृष्टिकोण से अनुकूल ही रहने की संभावना बनती है. वाहनादि के लिए भी समय अनुकूल रहेगा.

2014 में कन्या राशि के लिए उपाय

अक्तूबर 2014 तक आपकी कुण्डली में शनि की साढ़ेसाती का अंतिम चरण रहेगा, इसलिए आप इस समय तक शनि के उपाय करें. इसके लिए शनि के मंत्र जाप तथा शनि स्तोत्र आदि का पाठ कर सकते हैं. यह मंत्र जाप आप शनिवार के दिन करें. शनिवार के दिन शनि की वस्तुओ का दान भी किया जा सकता है. इसके साथ ही आप प्रतिदिन सुबह के समय गणेश जी की पूजा नियमित रुप से करें.