» Scorpio Yearly Horoscope 2014
 
Scorpio Yearly Horoscope 2014http://www.bestastroguru.com/articles/1388043049big_scorpio.jpg

वृश्चिक राशि भचक्र की आठवें स्थान पर आने वाली राशि है. भचक्र पर इस राशि का विस्तार 210 अंश से 240 अंश तक फैला हुआ है. इस राशि के अन्तर्गत विशाखा नक्षत्र का चौथा चरण, अनुराधा नक्षत्र के चार चरण और ज्येष्ठा नक्षत्र के चारों चरण आते हैं. इस राशि का स्वामी ग्रह मंगल होता है इस कारण आपके भीतर मंगल की प्रवृति पाई जाती है, बलशाली व साहसी व्यक्ति होते हैं. इस राशि का प्रतीक चिन्ह एक बिच्छू है और इसका तत्व जल है. इस राशि को स्थिर राशि की श्रेणी में रखा गया है. बिच्छू का प्रतीक चिन्ह होने से आप अति शीघ्रता से प्रतिक्रिया देने वाले व्यक्ति होगें जबकि बाहरी तौर पर आप स्वयं को बहुत ही शांत तथा संयमी दिखाने वाले व्यक्ति होते हैं. आपकी एक खासियत यह है कि एक बार जिस बात को करने का जुनून आपके अंदर सवार हो जाता है तब आप उसे पूरा कर के ही दम लेते हैं. आप कम बोलना पसंद करते हैं लेकिन कम बोलने के बावजूद भी आपके भीतर अत्यधिक गतिविधियाँ चलती रहती है.

आप एक उत्कृष्ट व्यक्ति सिद्ध होते हैं और यदि आपको समूह की बागडोर सौंप दी जाए तब आप एक अच्छे नेता साबित होते हैं. संसाधनों के उपयोग में आप अपने सभी गुणों का उपयोग बखूबी करते हैं. आप किसी के भी प्रति धीरे-धीरे विश्वास जमाने का काम करते हैं और एक बार विश्वास जमने के बाद आप उसे काफी लंबे समय तक निभाते भी हैं. आप सच्चाई और ईमानदारी के आधार पर अपने मित्रों का चुनाव करते हैं. मित्रता में धोखेबाजी आपके लिए असहनीय होती है. मित्र की हर संभव सहायता आप करने को तैयार रहते हैं लेकिन यदि कोई आपसे धोखा करे तो आपसे बुरा फिर कोई नहीं होता है और आप बदले की भावना से ग्रसित रहते हैं. आप फिर कभी मित्र से बात नहीं करते हैं और सदा के लिए उनसे नाता तोड़ देते हैं.

परिवार के प्रति आप वचनबद्ध रहते हैं और अपने उत्तरदायित्वो का निर्वाह भी पूरा करते हैं. कार्यक्षेत्र पर प्रबंधन के मामलों में आप कुशल होते हैं. जब अपनी वकालत की जरुरत पड़े तो आप खुद के लिए अच्छे वकील साबित होते हैं. आपको बेईमानी करने वाले लोग पसंद नहीं होते हैं और आप निष्क्रिय लोगो से भी एक उचित दूरी बनाकर रखते हैं. सच बोलना व सुनना आपको पसंद होता है और आप सदा सत्य की राह पर चलना चाहते है. आपकी एक बड़ी खूबी यह भी है कि आप लायक विरोधियों का भी सम्मान करते हैं.

आपके अंदर बहुत से गुणों के साथ कुछ अवगुण भी विद्यमान होते हैं, आप बहुत ही शीघ्रता से छोटी से छोटी बात पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हैं. आप स्वयं को दूसरों के सामने पूरी तरह से प्रकट नहीं करते हैं और छिपे हुए से रहते हैं. इस कारण आपकी स्थिति बहुत बार विस्फोटक भी हो सकती है लेकिन यह आपके लिए घातक सिद्ध हो सकती है. आप अपने प्रति रहस्यों को बनाए रखते हैं और जिद्दी प्रवृति के व शंकालु व्यक्ति होते हैं. दूसरो पर शक व संदेह करना आपकी आदत होती है.

वृश्चिक राशि के लिए कैरियर

वृश्चिक राशि होने से आपके भीतर बिच्छू जैसे गुणो का समावेश भी होता है और राशि स्वामी मंगल होने से आप बलिष्ठ, बलशाली, साहसी, पराक्रमी तथा ऊर्जावान व्यक्ति होते हैं. आप पुलिस विभाग में कार्यरत हो सकते हैं, रक्षा विभाग में भी आप नौकरी कर सकते हैं, रेलवे विभाग, दूर संचार विभाग आदि को भी आप आजीविका का क्षेत्र चुन सकते हैं. आप बीमा कर्ता अथवा एजेंट हो सकते हैं. आपको चिकित्सा आदि जैसे क्षेत्रों में भी सफलता मिल सकती है और मशीनरी से जुड़े काम आपके लिए उपयुक्त कहे जा सकते हैं. आप ललित कला व नृत्य में भी कुशल होते हैं, आप अच्छे वक्ता व कुशल लेखक भी होते हैं.

2014 वृश्चिक राशिफल - पैसा और वित्तीय स्थिति

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय


वृश्चिक पैसा और वित्तीय स्थितिवर्ष की पहली तिमाही में आपके लिए अनुकूलता बनी रहने की संभावना कम ही है. चारों ओर से आपके खर्चे बढ़ने की बात नजर आती है. इस समय आपका संचित धन भी कम हो सकता है और किसी आवश्यक काम की पूर्ति के लिए किसी से आर्थिक सहायता भी लेनी पड़ सकती है. पूरी तिमाही आप आर्थिक संकटों का सामना करते रह सकते हैं. आर्थिक तंगी के कारण आप परेशान रह सकते हैं और गलत रुप से धनार्जित करने का फैसला कर सकते हैं. आप इस समय भूलकर भी शेयर बाजार में ऎसे काम में पैसा ना लगाएं जहाँ कम में ज्यादा का लालच हो.

इस समय आप भाई-बहनों के लिए भी जो धन व्यय करेंगे वह व्यर्थ ही जाएगा. इसलिए दूरगामी परिणाम देखते हुए आगे बढ़े. इस समय यदि आप अपनी जमीन आदि बेचना चाहते हैं तो कुछ समय प्रतीक्षा करें अन्यथा आप घाटे का सौदा इस समय कर सकते हैं.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

वर्ष की दूसरी तिमाही आपके लिए मिश्रित फल प्रदान करने वाली रह सकती है. इस समय आपकी आय व व्यय दोनो ही समान रुप से बने रह सकते हैं लेकिन निवेश के लिए यह तिमाही भी अधिक अनुकूल नहीं कही जा सकती है. इसलिए अधिक जोखिम से बचने का प्रयास करें. इस समय आपको कोई भी बात स्पष्ट रुप से समझ नहीं आएगी और इस कारण फिजूल की बातों पर धन का व्यय आप कर सकते हैं. जहाँ आप कुछ समझ नहीं पा रहे हैं वहाँ आप अपने घर के बड़े बुजुर्गों से सलाह लेकर ही आगे कदम बढ़ाएँ अथवा दो-चार लोगो से मार्गदर्शन लें.

तिमाही के दूसरे भाग में आपको जीवनसाथी से अथवा बाहरी तत्वो से लाभ की प्राप्ति हो सकती है. इस समय आपका प्रेमी भी आपकी आर्थिक रुप से मदद कर सकता है लेकिन तिमाही के अंतिम भाग में आपके समक्ष जो खर्चे उभरकर सामने आएंगें उन्हें आप रोकने में असफल रहेंगे और जितना आप कमाएंगे उतना ही आप व्यय भी करेंगे.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

तिमाही के इस भाग में आपकी आर्थिक स्थिति में कुछ सुधार होना आरंभ हो जाएगा और आप धन संबंधी मामलों में राहत का अनुभव करेंगे. धन संबंधी बातों को लेकर आपको जो भी परेशानियाँ बनी हुई थी उनमें कमी आ सकती है क्योकि इस समय आपकी आय में वृद्धि हो सकती है और आपके भाई-बहन अथवा पिता या वरिष्ठ व्यक्ति आपको आय बढ़ाने के कुछ “गुर” भी सीखाने में सहायक हो सकते हैं. तिमाही का अंतिम भाग आर्थिक रुप से अधिक सुदृढ़ बना रहेगा.

इस तिमाही में आपको बच्चो के भविष्य को लेकर कुछ चिन्ता बनी रह सकती है और आप उनके भविष्य को सुरक्षित बनाने के लिए बाजार में आई बचत योजनाओं पर सलाह मशविरा करने के बाद निवेश कर सकते हैं. माताजी के स्वास्थ्य पर थोड़ा धन व्यय हो सकता है.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

वर्ष की अंतिम तिमाही वित्तीय दृष्टिकोण से आपके पक्ष में ही रहने की संभावना बनती है. इस समय जो लोग विदेशों से अपनी आय का संबंध स्थापित करने की सोच रहे हैं वह कर सकते हैं और उन्हें आरंभ में कुछ परेशानियों के बाद अच्छे परिणाम ही प्राप्त होगें. लेकिन इस समय आपका जीवनसाथी बेकार की चीजों में धन खर्च कर सकता है. आपके मना का उस पर शायद ही कुछ प्रभाव पड़े. इस समय आपका धन मादक द्रव्यों के सेवन तथा कॉकटेल पार्टी पर भी व्यय हो सकता है और माह की इस पहली व दूसरी तिमाही में भोग विलास में भी धन का व्यय हो सकता है. आप भी अपने ऊपर कुछ पैसा खर्च कर सकते हैं. आपको थोड़ा नियंत्रण करना चाहिए क्योकि आपकी आमदनी में वृद्धि होती है तो इसका अर्थ यह नही कि आप पिछला समय भूल जाएं और फिर से सारा पैसा एकदम से उड़ाना आरंभ कर दें. आपको यह बात तिमाही के अंत तक समझ आ ही जाएगी कि कुछ बचत करने में समझदारी ही है.

2014 वृश्चिक राशिफल - कैरियर और प्रोफेशन

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय


वृश्चिक 2014 कैरियरपैतृक काम करने वाले व्यक्तियों के लिए तिमाही का आरंभ समय अनुकूल कहा जा सकता है. इस समय आपके काम में वृद्धि होगी और आपकी एक नई पहचान स्थापित होगी. आप नवीन योजनाओं को लागू कर के अपने व्यवसाय को एक नई दिशा प्रदान करेंगे. व्यवसाय के सिलसिले में आपकी भाग-दौड़ भी काफी अधिक बनी रह सकती है. साझेदारी में काम करने वालों के लिए भी यह तिमाही अनुकूल फल प्रदान करने वाली रह सकती है.

नौकरीपेशा लोगो के लिए समय का आरंभ अच्छा ही रहेगा लेकिन जिनके काम का संबंध मल्टीनेशनल कम्पनी से जुड़ा है उन्हें कुछ असहज परिस्थितियों का सामना करते रहना पड़ सकता है लेकिन आप अपनी चालाकी व बुद्धिमत्ता का उपयोग करते हुए उच्चाधिकारियों को अपनी ओर करने में सफल रह सकते हैं. आप जब जो करने की सोचते हैं उसे पूरा कर के ही दम लेते हैं, यही जुनून आपके कार्यक्षेत्र पर देखा जा सकता है.

तिमाही के दूसरे अथवा तीसरे भाग में आपकी पदोन्नति हो सकती है, लेकिन इसमें भी बहुत से लोग टांग अड़ाने का काम कर सकते हैं और जितने की आपको उम्मीद होगी उससे कम ही मिलने की गुंजाइश नजर आती है. इस कमी का कारण आपको खुद समझ नहीं आ पाएगा कि ऎसा क्यूं हुआ है.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

इस तिमाही को मिश्रित फल प्रदान करने वाली कहा जा सकता है और आरंभ समय में आपको सरकार अथवा सरकारी अधिकारियों के कोप का भागी बनना पड़ सकता है. इस समय को आप समझकर तथा विचारकर ही निकालने का प्रयास करें. आप बहुत ही जिद्दी प्रवृति के हैं लेकिन जिद में आकर खुद का नुकसान करना समझदारी नहीं कहलाएगी. इसलिए समय की नजाकत को देखते हुए नेत्र खुले रखते हुए परिस्थितियों पर निगाह रखें.

तिमाही के दूसरे भाग में स्वत: ही परिस्थितियाँ आपके अनुकूल हो जाएंगी और आपके निज प्रताप में वृद्धि होगी और कार्यक्षेत्र पर सुखद अनुभव होगा, काम करने में आनंद आएगा. लेकिन व्यवसाय करने वालों को इस भाग में बाधाओं तथा विघ्नों का सामना करना पड़ सकता है. तिमाही के अंतिम भाग में आपको खासतौर पर सचेत रहना चाहिए क्योकि इस समय आप कुछ भी बोलने से हिचकिचाएंगे नहीं और आपकी यही जुबान आपके लिए कष्टकारी साबित हो सकती है. आपके विरुद्ध हुई परिस्थितियों का लाभ आपके विरोधी उठा सकते हैं और आपको दण्ड का भागी बनना पड़ सकता है. यदि आप अपने ऊपर काबू रखते हैं और सभी काम पूर्ण करते हैं तब आपके ऊपर अंगुली उठ भी गई तब भी हानि नहीं होगी.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

नौकरीपेशा लोगों के लिए तिमाही के आरंभ के दो सप्ताह कष्टकारी रह सकते हैं क्योकि इस समय आपके ऊपर आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा सकते हैं. आपकी कार्य क्षमता पर अंगुली उठाए जाने की बात अब प्रत्यक्ष रुप से सामने आ सकती है, लेकिन आप अपने काम से फिर से परिस्थितियों को संभालने का प्रयास करेंगे और धीरे-धीरे कार्यक्षेत्र पर अपनी छवि को सुधारने में सफल हो ही जाएंगे. एक बात का ख्याल यह रखें कि आप अपने स्वार्थीपन का परिचय ना दें और ना ही अपने लाभ के चक्कर में किसी दूसरे को मोहरा बनाएं क्योकि यही मोहरा आपके लिए उलटा पड़कर आपकी परेशानी का कारण बनेगा.

तिमाही के अंतिम भाग में आपको अपने अधिकारियों का साथ मिलना आरंभ हो जाएगा और आप फिर से स्वयं को विस्थापित करने में सफलता पा ही लेंगे लेकिन आफिस में हुए हंगामे और आपके ऊपर उठाई गई अंगुली के कारण आपका मन किसी अन्यत्र स्थान पर जाने का हो सकता है और आप कई नए स्थानों पर आवेदन कर सकते हैं. बिजनेस के लिए तिमाही का आरंभ समय अनुकूल ना रहकर बाद का समय पक्ष में रहेगा. आरंभ समय में आप अपने काम को कराने के लिए घूसखोरी का भी सहारा ले सकते हैं. किन्तु आप कुछ समय धैर्य रखें क्योकि कुछ समय बाद ही आपका अच्छा समय आने वाला ही होगा.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

बिजनेस करने वाले व्यक्ति इस तिमाही के आरंभ में किसी भी रुप में अपने काम को सफल करने की सोचेंगे. चाहे उसके लिए उन्हें कुछ भी या कोई भी नीति क्यूँ ना अपनानी पड़े. लेकिन आपको यह गलत नीति बहुत महंगी पड़ सकती है और जेल यात्रा तक के योग इस गलत काम के कारण बन सकते हैं, बदनामी होगी सो अलग है. इसलिए आवेश में आकर अथवा आवेगी होकर कोई काम ना करें और ना ही किसी तरह का निर्णय ही लें. आपके गलत काम का प्रभाव आपको अपने व्यवसाय में काफी अरसे तक देखने को मिल सकता है.

कामकाजी महिलाओं को भी इस समय अपने सहयोगियों से किसी तरह का कोई पंगा नहीं लेना चाहिए अन्यथा आपके अधिकारी आपकी बात सुनने को तैयार ही नहीं होगें और आपके ही ऊपर अपमान की अंगुली उठाई जा सकती है. इससे आपके और आपके उच्चाधिकारियों के मध्य ठन सकती है और आप अपने अपमान का बदला लेने के लिए सभी को कोर्ट तक घसीटने के लिए भी तैयार रहेगें. आप जो भी निर्णय लें उसके अनुकूल और प्रतिकूल दोनो ही पहलुओ पर मनन अवश्य करें.

2014 वृश्चिक राशिफल - हैल्थ और फिटनेस

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय


वृश्चिक 2014 स्वास्थवर्ष की तिमाही के आरंभ समय में आपको शारीरिक कष्टों की बजाय मानसिक कष्टों का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि आप इस समय स्वयं को बंधन में बंधा हुआ सा महसूस कर सकते हैं. इस कारण आप हर समय मन-मस्तिष्क पर एक बोझ सा महसूस कर सकते हैं. तनाव के कारण आपको सिर चकराने जैसे रोग घेर सकते हैं. यदि आप इनसे बचना चाहते हैं तो आपको आध्यात्म का सहारा लेना चाहिए और कुछ समय अपने लिए निकाल कर व्यायाम जरुर करना चाहिए. शरीर में तरो-ताजगी बने रहने के लिए आप ताजे फलो अथवा ताजे फलों के रस का उपयोग अवश्य करें.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

वर्ष की इस दूसरी तिमाही में आपकी बुद्धि कुछ भ्रमित सी बनी रह सकती है. इस समय आप दूसरों के इस्तेमाल किए वस्त्रो को ना पहनें खासकर आप दूसरों के तौलिए का उपयोग तो बिलकुल भी ना करें. इस समय आपको त्वचा विकार होने की संभावना बनती है. यदि दूसरों के वस्त्र उपयोग करेंगे तो अवश्य ही हो सकती है. फोड़े-फुंसी भी इंफेक्शन के कारण ही निकल सकते हैं, इनसे बचाव के लिए आप नीम के पत्तो को पानी में उबालकर स्नान करें. जिन लोगों को पेट से जुड़ी व्याधियाँ पहले से ही है और बार-बार परेशान कर रही हैं उन्हें लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

आप अपनी छोटी-छोटी तकलीफों को अनदेखा ना करें क्योकि यह आपके लिए नासूर साबित हो सकती हैं. एक जरा सी बीमारी को अनदेखा करने पर यह कई रुप धारण कर सकती है, इसलिए बेहतर है कि आप समय पर पूरा ईलाज कराएं. ईलाज को आधा अधूरा ना छोड़े. आप अपने खानपान पर ध्यान दें क्योकि दूषित भोजन करने से आपको तीव्र पेट दर्द की शिकायत बनी रह सकती है और कुछ समय आपके इस दर्द के कारणो का पता लगाने में ही निकल सकता है. यदि आपको किसी कारण ब्लड टेस्ट कराना पड़ सकता है या इंजेक्शन लगवाना पड़ जाए तब एक बार सुई और इंजेक्शन की जाँच अवश्य कर लें अन्यथा विषाणुओ का हमला शरीर पर हो सकता है.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

खराब स्वास्थ्य के कारण आपको अस्पताल के चक्कर भी काटने पड़ सकते हैं और शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए आप मेडिटेशन का सहारा भी इस समय ले सकते हैं. आप जिस भी चिकित्सक से अपना ईलाज करा रहे होगें उसे आप इस तिमाही में बदल सकते हैं. मानसिक कष्टों से राहत रहेगी लेकिन जिन्हें श्वास संबंधी रोग है उन्हें ज्यादा भारी काम अथवा भारी सामान उठाकर नहीं चलना चाहिए और ना ही ऊंचाई वाले स्थानों पर अधिक समय तक पैदल ही चलना चाहिए. इनकी तबीयत इस समय ज्यादा खराब हो सकती है और सांस की बीमारी बढ़ सकती है. आप अपनी दवाईयाँ अपने साथ सदा रखें.

2014 वृश्चिक राशिफल - प्रेम संबंध

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय


वृश्चिक 2014 प्रेमपहले से बने हुए प्रेम संबंधों में आपको अभी मनमुटाव का अनुभव हो सकता है. इस मनमुटाव का कारण आप स्वयं भी हो सकते हैं. छोटी सी बात को लेकर आप बतंगड़ बना सकते हैं और प्रेमी को मानसिक यातनाएं तक दे सकते हैं. आपकी इन मानसिक यातनाओं को सहन करते-करते वह परेशान होकर अन्तत: आपका साथ छोड़ने का फैसला कर सकता है. आप अपनी कमियों को दूर करने का प्रयास करें और यह समझे कि जिस तरह से आपकी अपनी भावनाएं कोमल हैं और जो शीघ्रता से आहत भी हो जाती हैं ठीक उसी तरह से आपके प्रेमी की भावनाएम भी कोमल हैं और वह भी महत्व रखती हैं.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

वर्ष की इस दूसरी तिमाही का आरंभ आपके प्रेम संबंधों के लिए बिलकुल भी उपयुक्त नहीं माना जाएगा. इस समय आपके आपसी मतभेद बहुत ज्यादा बढ़ सकते हैं और आप स्वयं भी मानसिक परेशानी की हालत में होने से चिड़चिड़े से हो सकते हैं. तिमाही का यह पहला भाग ज्यादा कष्ट वाला ही रहने की संभावना बन रही है. लेकिन दूसरे भाग में आपका प्रेमी समझदारी का परिचय देते हुए इन प्रेम संबंधों को संवारने की एक बार फिर से कोशिश कर सकता है. इस समय आपको भी उसका साथ देना चाहिए और पिछले सभी गिले शिकवों को दूर करते हुए आगे बढ़ना चाहिए.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

इस तिमाही में आपके प्रेम संबंध धीरे-धीरे अनुकूल होने की संभावना बनती है, साथ ही आप दोनो अपनी-अपनी कमियों को दूर करने का प्रयास करे. इस समय आपको किसी काम के सिलसिले में अपने प्रेमी से दूर भी जाना पड़ सकता है. यह दूरी आपको खल सकती है और आप अब अपने प्रेमी का अपने जीवन में महत्व समझ सकते हैं. आप जानेंगें की आपका प्रेमी आपको कितना चाहता है और आप स्वयं भी उसके बिना रह पाने में सक्षम नहीं हैं. तिमाही का अंतिम भाग आपके लिए काफी अनुकूल सिद्ध हो सकता है और आप प्रेम संबंधों को विवाह में तबदील करने की भी सोच सकते हैं और इसके लिए माता-पिता से प्रेम संबंधों का जिक्र भी कर सकते हैं. लेकिन पहली बार में वह शायद ही माने, आप दोनो में से किसी के भी परिवार वाले आवाज उठा सकते हैं.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

प्रेम संबंधों को लेकर घर में कलह क्लेश होने की संभावना बनती है. आप कुछ बुद्धिमत्ता का परिचय देते हुए प्रतिकूल परिस्थिति को संभालने का प्रयास करेंगे लेकिन आपका प्रेमी इन प्रतिकूल परिस्थितियों से कुछ घबरा सा सकता है और इस कारण वह अत्यधिक परेशान सा हो सकता है. यह स्थिति आपके प्रेमी के लिए घातक भी सिद्ध हो सकती है. ऎसी स्थिति में आप इसे दिलासा देने का प्रयास करें और विपरीत परिस्थितियों से बाहर लेकर आएं. इस तिमाही के पहले व दूसरे भाग में आपको दोनो का विशेष ध्यान रखना होगा क्योकि आपके ऊपर भी तोहमत लगाई जा सकती है और प्रेम संबंधों को लेकर बखेड़ा खड़ा हो सकता है. सभी तरह की प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद भी आप इस तिमाही के अंतिम भाग में सामान्य हो सकते हैं.

2014 वृश्चिक राशिफल - विद्यार्थी

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय

वृश्चिक 2014 परिवारतकनीकी क्षेत्र से संबंधित विद्यार्थियों के लिए तिमाही का आरंभ अनुकूल रह सकता है. जो विद्यार्थीगण तकनीकी क्षेत्र में दाखिला लेने के लिए शहर से बाहर जाना चाहते हैं वह जा सकते हैं. लेकिन काफी झंझटों के बाद ही आपको सफलता मिलने की संभावना बनती है. आप अपने साथ आवश्यक कागजात अर्थात सर्टिफिकेट ले जाना ना भूलें. इससे आपकी फिजूल की भाग-दौड़ के साथ अनावश्यक समय तथा धन का व्यय भी होगा. प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए समय आपके पक्ष में रहेगा.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

जो विद्यार्थी अभी तक मनोनुकूल विषयों में दाखिला लेने के लिए भटक रहे हैं उन्हें थोड़ा सा सचेत रहने की आवश्यकता है क्योकि उनके साथ इस समय धोखा हो सकता है. आप किसी ऎसे व्यक्ति के चंगुल में फंस सकते हैं जो आपसे धन लेकर दाखिला दिलाने का लालच दे सकता है. आपको ऎसे लोगों से सचेत रहने की आवश्यकता है. कहीं ऎसा ना हो कि रुपये भी जाएं और दाखिला भी ना हों. इसलिए जरा सा लालच आपको बहुत ज्यादा महंगा पड़ सकता है. आप प्रयास करें और अपनी ही काबिलियत पर दाखिला लें. निराश ना हो इस तिमाही के दूसरे अथवा तीसरे भाग में आपको दाखिला मिल ही जाएगा.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

वर्ष की यह तिमाही आपके लिए अनुकूल फल प्रदान करने वाली रह सकती है. इस तिमाही में वैसे तो आपकी बुद्धि डांवाडोल सी बनी रहेगी और आप अपनी राह से भटक भी सकते हैं लेकिन फिर कुल मिलाकर तिमाही के अंत तक आप फिर से अपनी पढ़ाई की ओर गंभीर होना आरंभ कर देंगे. तिमाही का दूसरा और फिर अंतिम भाग आपके लिए हर लिहाज से अच्छा रहेगा अर्थात पढ़ाई के साथ-साथ आप खेल-कूद प्रतिस्पर्धाओं में भी अच्छा प्रदर्शन कर के दिखाएंगे.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

वर्ष की इस अंतिम तिमाही का समय आपके लिए अधिक अनुकूल नहीं कहा जा सकता है. आप पढ़ाई के क्षेत्र में तो बेहतर कर के दिखाएंगें लेकिन आप दादागिरी करने वाले लोगों के साथ रहना आरंभ कर सकते हैं और अच्छा होते हुए भी आप पर इन लोगों के कारनामों का प्रभाव पड़ सकता है. जिस भी गलत काम में यह शामिल होगें उसका आरोप आप पर भी लग सकता है. इसलिए तिमाही के पहले भाग में तो बिलकुल भी ऎसा कोई काम ना करें जिससे आपके ऊपर धब्बा लगे और आपके माता-पिता को भी शर्मिंदा ना होना पड़े. दूसरे भाग को भी इस मामलें ठीक-ठाक ही कहा जाएगा लेकिन अंतिम भाग आपको राहत देने वाला होगा.

2014 वृश्चिक राशिफल - यात्रा

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय


वृश्चिक 2014 परिवारयात्राओं को लेकर वर्ष की पहली तिमाही मिश्रित फल प्रदान कर सकती है. इस तिमाही का पहला भाग आपकी व्यवसायिक यात्राओ के लिए अनुकूल कहा जा सकता है. पहले भाग में काम को लेकर यात्राएं अधिक होने की संभावना बनती है. आपकी यह यात्राएं यूँ ही व्यर्थ नहीं जाएंगी, जिस काम के लिए आप यह यात्राएं करेंगे उन सभी में आपको सफलता मिलने की संभावना बनती है. यह पूरी तिमाही आपके लिए अनुकूल फल प्रदान करने वाली रहेगी.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

वर्ष की तिमाही का यह दूसरा भाग आपकी यात्राओं के लिए अच्छा नही कहा जा सकता है. यात्राओं के विफल रहने की संभावना अधिक बनती है और आपको हानि का सामना करना पड़ सकता है. इन यात्राओं के दौरान आपकी कीमती वस्तु के खोने की भी संभावना बन रही है. यदि बहुत आवश्यक हो तो आपको सचेत रहकर यात्रा करनी चाहिए और अनजान व्यक्तियों से ज्यादा बातचीत नहीं करनी चाहिए और ना ही किसी राहगीर से खाने की किसी वस्तु की भागीदारी करें. इससे आप काफी हद तक परेशानियों से बच सकते हैं.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

तिमाही का आरंभ समय आपकी यात्राओं के लिए अनुकूल नहीं कहा जा सकता है लेकिन मध्य समय को आपके पक्ष में कहा जा सकता है. तिमाही के मध्य भाग में आप परिवार के साथ यात्राओं पर जा सकते हैं और आनंद का अनुभव भी कर सकते हैं. आपकी यात्राएं सुखद व मन को शांति प्रदान करने वाली रहेगी. तिमाही का अंतिम भाग भी आपकी यात्राओं के लिए अनुकूल कहा जा सकता है. इस समय आप छोटी विदेश यात्राओ पर भी जाने का कार्यक्रम बना सकते हैं.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

वर्ष की अंतिम तिमाही का पहला भाग आपके लिए अच्छा नहीं कहा जा सकता है क्योकि इस समय आपकी यात्राओं में बाधाओ का सामना अधिक करना पड़ सकता है. यात्रा के दौरान आपके आसपास के लोगो से आप छोटी सी बात को लेकर उलझ सकते हैं और स्थिति के बेकाबू होने की भी संभावना बनती है. ऎसे में ज्यादा परेशानी आपको ही होगी, इसलिए आवेश में आकर आवेगी ना बनें और अपने क्रोध को वश में करने का प्रयास करें.

तिमाही के मध्य भाग में कार्यक्षेत्र को लेकर यात्राएं हो सकती है और अंतिम भाग में परिवार को लेकर आप किसी समारोह में शामिल होने के लिए यात्राएं कर सकते हैं.

2014 वृश्चिक राशिफल - परिवार

जनवरी 2014 से मार्च 2014 तक का समय


वृश्चिक 2014 परिवारआपकी जन्म कुंडली में शनि का गोचर आपके चंद्रमा से बारहवें भाव में हो रहा है, इससे आपकी कुंडली में शनि की साढ़ेसाती का पहला भाग आरंभ हो ही चुका है. गोचर के शनि की तीसरी दृष्टि आपके कुटुम्ब भाव पर पड़ने से परेशानियों का तथा कलह क्लेश का सामना आपको करते रहना पड़ सकता है. तिमाही के इस भाग में मंगल की चतुर्थ दृष्टि भी आपके कुटुम्ब में लड़ाई-झगड़े कराने का काम कर सकती है. इसलिए आपको इस तिमाही को सामंजस्य तथा तालमेल से गुजारने का प्रयास करना चाहिए. संतान की ओर से आपको तनाव का सामना करना पड़ सकता है अथवा बच्चो का खराब स्वास्थ्य आपको परेशानी में डाल सकता है. वर्ष की इस तिमाही में आप स्वयं को बंधा हुआ सा महसूस करेंगे, आपको महसूस होगा कि चाह कर भी आप कोई काम नहीं कर पा रहे हैं. इस कारण आपकी नींद में भी खलल पड़ सकता है.

अप्रैल 2014 से जून 2014 तक का समय

तिमाही के इस पहले भाग में आपको वाणी अत्यधिक खराब हो सकती है. परिवार में हर रोज किसी ना किसी बात को लेकर झगड़े बने रह सकते हैं और वातावरण में अशांति बनी रह सकती है. आपके घर में तिमाही के दूसरे भाग में किसी बाहरी व्यक्ति की दखलंदाजी अधिक बनी रह सकती है जिससे वह घर के झगड़ो को और अधिक बढ़ाने का ही काम करेगा. आप अपनी बुद्धि से काम लें और किसी अन्य की बात में आने का प्रयास ना करें.

हर परिस्थिति का जायजा शांत व स्थिर रहकर करने का प्रयास करें. कोई कुछ कहता भी है तो तुरन्त जवाब देने से बेहतर है कि कुछ मनन करें फिर सोचें कि क्या कहना चाहिए और यह आवश्यक नही कि हर बात पर प्रतिक्रिया जाहिर ही की जाए. यदि आपके बड़े भाई-बहन हैं तब आपका उनके साथ अच्छा खासा झगड़ा हो सकता है, जिससे दूरियाँ इतनी बढ़ सकती हैं कि फिर वापिस पास आना मुश्किल हो जाएगा.

जुलाई 2014 से सितंबर 2014 तक का समय

पारीवारिक दृष्टिकोण से इस तिमाही में आप परिवार के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लेने में अन्य सदस्यों की सलाह अवश्य लें. जिस बात पर सभी एक सी सहमति जताए उसे आगे बढ़ाने का प्रयास करें, फिर आपको अपनी मनमर्जी नहीं चलानी चाहिए. तिमाही के आरंभ समय में साथी का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है जिससे उसके भीतर भी चिड़चिड़ापन समाया रह सकता है. तिमाही के दूसरे भाग में जिस पैतृक संपति को लेकर विवाद चला आ रहा था, उसका निपटारा किसी वरिष्ठ व्यक्ति की मध्यस्थता से हो सकता है.

तिमाही का मध्य भाग परिवार के लिए महत्वपूर्ण बना रहने की संभावना बनती है. इस समय आपको पिता की ओर से धन लाभ हो सकता है और भाग्य आपका साथ देगा. लेकिन इस समय माता के साथ वैचारिक मतभेद रहेगे और इस कारण आपको दुख का अनुभव होगा तथा अत्यधिक मानसिक परेशानी होगी. जीवनसाथी की पदोन्नति होने की संभावना बनती है.

अक्तूबर 2014 से दिसंबर 2014 तक का समय

वर्ष की अंतिम तिमाही के पहले भाग में आप अपनी जिम्मेदारियों का अनुभव कर सकते हैं और जिन कामों को आप इतने समय से टालते आ रहे हैं उन्हें पूरा करने का बीड़ा उठाएंगे. अपने उत्तरदायित्वों का निर्वाह करने में ही आपका समय ज्यादा बीत सकता है. घर के बहुत से काम एक साथ आरंभ करने से आपकी भाग-दौड़ ज्यादा बनी रह सकती है. इस समय आपके मित्र आपकी एकाग्रचित्तता को भंग करने का प्रयास कर सकते हैं और बातों में फंसा कर आपको नशे की ओर भी धकेल सकते हैं. आपको अपने इन मित्रों से दूर ही रहना चाहिए और बेकार के झगड़ो से बचना चाहिए.

तिमाही का दूसरा भाग आपके लिए बिलकुल भी उपयुक्त नही है, आप इसे संयम तथा धैर्य से निकालने का प्रयास करें और भूलकर भी कोई ऎसा काम ना करें जिससे आपके मान-सम्मान पर बट्टा लगें या आपको कोर्ट केस में ना फंसना पड़े. दूसरा भाग अपेक्षाकृत अनुकूल होगा लेकिन बहुत ज्यादा नहीं जबकि तिमाही का अंतिम भाग आपके लिए अनुकूल बना रहेगा.

2014 में वृश्चिक राशि के लिए उपाय

आपके ऊपर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव आरंभ हो गया है इसलिए आपको शनि से संबंधित मंत्र जाप तथा स्तोत्र अवश्य करने चाहिए. आप हर शनिवार को संध्या समय में, जब सूरज छिप चुका हो लेकिन अंधेरा ना हुआ हो, पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीया जलाना चाहिए. यह तेल और दीपक आप अपने घर से लेकर जाएं, शनिवार के दिन खरीदें नहीं. दीपक जलाने के बाद पेड़ की परिक्रमा सात बार करें.

यदि आप शाम को नहीं जा सकते हैं तब आप सुबह के समय में भी जा सकते हैं. सुबह के समय सूरज निकलने से पहले लेकिन जब अंधेरा ना हो तब आप एक लोटे में जल लें और उसमें काले तिल या साबुत उड़द के दाने डालकर पीपल की जड़ में दें और जहाँ मिट्टी गीली हो जाएगी वहाँ से मिट्टी का तिलक अपने माथे पर कर लें. इसके साथ ही आप शनिवार के दिन एक माला शनि मंत्र की करें और शनि स्तोत्र का पाठ 11 बार करें. हर मंगलवार व शनिवार के दिन हनुमान चालीसा का पाठ सात बार करें.