» पुत्र चार तरह के होते हैँ
 

 

1. लेनदार पुत्र- पिछले जन्म का लेनदार था पुत्र होकर आ गया,
अब उसे पढ़ाओ-लिखाओ, विवाह करो उसका लेन-देन पूरा होगा और वह चल बसेगा ।
 
2. दुश्मन पुत्र- पिछले जन्म का दुश्मन भी पुत्र होकर आ जाता है,
ऐसा पुत्र कदम-कदम पर दुख देता है ।
 
3. उदासीन पुत्र- ऐसा पुत्र माँ-बाप को ना सुख देता है ना दुख,
बस कहने को पुत्र होता है ।
 
4. सेवक पुत्र- पिछले जन्म मे तुमने किसी की सेवा की, वही तुम्हारा पुत्र बनकर आ गया,
ऐसा पुत्र माँ-बाप को बड़ा सुख देता है ।।