» माँ भगवती ने अपना जागरण करवाने के लिए किसे कहा था
 

 

  मातारानी ने अपना जागरण करवाने के लिए राजा मान सिंह को कहा था । जिस समय गढ़ चितौड़ की लड़ाई के बीच में राजा मानसिंह की सेना हार गई थी और राजा मानसिंह की मौत निश्चित हो गयी थी तो राजा मानसिंह ने  माँ भगवती के आगे पुकार की  , कि माँ मेरी इस जंग में आकर मेरी जान की रक्षा करो  । राजा मानसिंह ने मातारानी के आगे इसलिए पुकार की थी  , क्योंकि मातारानी राजा मानसिंह की कुलदेवी थी और जब भी किसी के उपर कोई संकट आता है तो सबसे पहले अपने कुलदेवता को ही मनाता है  ।राजा ने भी जब अपनी कुलदेवी को याद किया तो मातारानी राजे को दर्शनदेने के लिए प्रकट हो गई और कहा भक्ता जा तेरी इस जंग में जीत होएगी । राजा माँ के दर्शन करके मातारानी से कहता है कि माँ जिस प्रकार आपने इस जंग के मैदान में आकर मुझे दर्शन दिए है , उसी प्रकार आप मेरे घर आकर भी मुझे दर्शन देओगे ...........?
राजा मानसिंह की भावना को देखते हुए माता रानी ने कहा भक्ता क्यों नही ..........तू जंग जीत के घर जा के मेरा एक जागरण करवाईं  , तेरे जागरण को सम्पूर्ण करने के लिए  , तुझे दर्शन देने के लिए मै तेरे घर जरुर आऊंगी । और अपने जागरण की बिधि मातारानी ने राजा मानसिंह को बताई  । माँ की कृपा से राजा की जंग में जीत हो गयी और राजा ने घर जाकर मातारानी का जागरण रचाया .............................।