» जीवन साथी की आयु वृद्धि
 

 

उमा उषा च वैदेही , रमा गंगा इति पंचकम  ।
प्रातरेव पठेंनित्यं ,सौभाग्यम वर्धते  सदा  ।।
 
  उमा , उषा , वैदेही  { सीता  } रमा  {लक्ष्मी } गंगा
 जो कोई सुबह उठ कर इन पांच नामो का उचारण
करता है उसके सौभाग्य  {जीवन साथी की आयु }की वृद्धि
होती है  ।