» पैत्रिक धन-प्राप्ति योग
 

 

नवमेश तथा एकादशेश साथ बैठे हों |
 
द्वतीयेश पर नवमेश की पूर्ण दृष्टि हो |
 
दुसरे घर मे दुसरे घर का मालिक ही हो, पर वह एकादशेश न हो |
 
दुसरे ग्रह में उच्चस्थ ग्रह हो |
 
दुसरे घर मे अकेला केतु हो |
 
दुसरे घर में एकादशेश, नवमेश तथा चतुर्थेश हो |
 
दुसरे घर में अकेला एकादशेश हो |
 
ग्यारहवें घर मे द्वतीयेश उच्च का होकर बैठा हो |
 
नौवें घर मे द्वतीयेश उच्च का होकर बैठा हो |
 
पांचवें घर मे द्वतीयेश तथा नवमेश हों |