» स्त्री रोग योग
 

 

 लग्न में शनि, मंगल या केतु हो |
 
 सप्तमेश 8, 12वें भाव में हो |
 
 सप्तमेश और दुतीयेश पापग्रहो से युक्त हो |
 
नीच का चन्द्रमा सातवें भाव में हो |
 
सातवें भाव में बुध पापग्रहो से दृष्टी हो |