Fasts
» Half-monthly
» Monthly
» Other
» Weekly
» Yearly
 
 
Yogini Ekadash(योगिनी एकादशी)
हिन्दू माह के आषाढ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी यानि योगिनी एकादशी का व्रत किया जाएगा। शास्त्रों में इस व्रत के विधान, नियम-संयम और फल बताए गए हैं। 
 
- आषाढ़ माह की कृष्णपक्ष की योगिनी एकादशी व्रत के नियम पालन दशमी की रात्रि से ही शुरु करें। इस व्रत का पालन करने वाले को दशमी के दिन से ही तन, मन से ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए और स्त्री प्रसंग से दूर रहना चाहिए। 
 
- एकादशी के दिन यथा संभव उपवास करें। उपवास में अन्न नहीं खाया जाता यानि बिना भोजन किए इस व्रत को किया जाता है। संभव न हो तो एक भुक्त या नक्त व्रत रखें। यानि एक समय रात्रि में भोजन करें।
 
- एकादशी को जुआ खेलना, सोना, पान खाना, दातून करना, परनिन्दा, चुगली, चोरी, हिंसा, संभोग, क्रोध तथा झूठ बोलना इन ग्यारह बातों का त्याग करें। 
Vishnu Ji Photos
Other Related Detail
» yogini Ekadashi vidhi (योगिनी एकादशीविधि)
» Yogini Ekadashi Vrat Katha (योगिनी एकादशी व्रत कथा)